अलसी की खेती से आपको होंगा अच्छा फायदा वो भी बिना पानी के, जाने खेती की पूरी जानकारी

हम आपको बता दे की आप अलसी की खेती कर के लाखों रुपये कमा सकते है, इस खेती को बिना पानी वाली भूमि में कर सकते है इस फसल की खेती, आपको बता दे की होगी बंपर पैदावार। आप सभी तो जानते ही है की अब रबी का सीजन शुरू हो गया है, ऐसे में बहुत से किसान भाई गेहू और चने की खेती के साथ-साथ कुछ तिलहनी फसलों की खेती में भी विशेष रूचि दिखा रहे है। आपको बता दे की अलसी तिलहन फसल में आती है. जिसकी खेती किसान असिंचित भूमि पर करके अधिक उत्पादन ले रहे है। विश्व में अलसी के उत्पादन में भारत तीसरे नंबर पर है।

देश के इन राज्यों में की जा रही है अलसी की खेती

हम आपको बता दे की किसानों को देश में वर्तमान समय में लगभग 448.7 हजार हैक्टेयर भूमि पर किसान अलसी की खेती कर रहे है। वही अगर हम इसके असिंचित भूमि पर पैदावार की बात करे तो यह प्रति हैक्टेयर 3 से 4 क्विंटल तक का उत्पादन देती है.देश में अलसी की खेती मुख्यतः मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ, बिहार, राजस्थान, ओडिशा, महाराष्ट्र एवं कर्नाटक राज्यों के किसान बड़े पैमाने पर कर रहे है आप भी इसकी खेती कर अच्छा उत्पादन ले सकते है।

अलसी की खेती के लिए उपयुक्त भूमि और जलवायु

अगर आप भी इस रबी सीजन में अपनी असिंचित भूमि पर अलसी की खेती करना चाहते है, तो इसके लिए आपको काली भारी एवं दोमट मटियार मिट्टी में अलसी की खेती करना सबसे ज्यादा बेहतर साबित होगा। साथ ही आपकी इस भूमि में उचित जल निकास होना चाहिए। अगर हम अलसी की फसल के लिए बेहतरीन जलवायु की बात करे तो इसकी खेती के लिए ठंडी और शुष्क जलवायु सबसे अच्छी मानी गयी है। आप इसकी खेती 25 से 30 सेल्सियस तापमान वाले इलाको में कम नमी तथा शुष्क वातावरण की आवश्यकता होती है।

यह भी पढ़े:- शकरकंद की खेती कर के किसान कमाएंगे दिन के हजारों रुपये, देखे कौन सी है उन्नत किस्में

अलसी की बुवाई से पहले करे खेत की गहरी जुताई और बुवाई

हम आपको बता दे की आप अगर अलसी की खेती करना चाहते है तो आप फसल से बेहतर उत्पादन लेना चाहते हो तो आपको इसके लिए जुताई और बुवाई की बहुत ही ध्यान देना होंगा, आपको इसके लिए खेतो की गहरी जुताई करनी पड़ेगी। साथ ही आपके खेती की मिटटी को 2 से 3 बार आपको पाटा लगाकर भुरभुरी मिटटी होने तक जुताई करे और जिससे की अलसी के बीज अच्छी तरह से अंकुरित हो सकेंगे और अलसी की खेती करना चाहते है तो इसके लिए आपको अक्टूबर के प्रथम पखवाडे़ तथा सिंचित क्षेत्रों में नवम्बर के प्रथम पखवाडे़ में बुवाई करनी चाहिए, अगर आप अलसी की बुवाई जितनी जल्दी करते है आपको खेती से उतना ही अच्छा उत्पादन मिलता है।

यह भी पढ़े:- किसानों को गरीब से अमीर बना देंगी सुरन के फल की खेती, जानिए खेती की पूरी प्रोसेस

बेहतरीन उत्पादन के लिए करे उर्वरकों का छिड़काव

हम आपको बता दे की बहुत ही फायदा करना चाहते है तो आप अगर आप भी अलसी की खेती से अपनी असिंचित भूमि में बेहतरीन उत्पादन केना चाहते हो तो इसके लिए आपको 50 कि.ग्रा.नाइट्रोजन,40 कि.ग्रा. फॉस्फोरस एवं 40 कि.ग्रा. पोटाश की दर से उर्वरको का प्रयोग करना चाहिए। तभी आपको इससे अच्छा पैदावार प्राप्त कर सकते हो।

अलसी की खेती से मोटी कमाई

हम आपको बता दे की अलसी की खेती से आपको अच्छा मुनफा कमा सकते है, यह किस्म रोली, कालिका मक्खी, झुलसा और छाछया रोग प्रतिरोधी होती है. यह किस्म करीब 130 से 135 दिन में पककर तैयार हो जाती है. इससे प्रति हेक्टेयर करीब 20 क्विंटल तक उपज मिलती है जो की आपको बहुत ही अच्छा मुनफा कमा सकते है इसमे आपको बता दे की ये आपको मंडी और बाजार के भाव के हिसाब से ही अच्छा मुनफा हओ सकता है।

Leave a Comment