अयोध्या राम मंदिर में स्थापित रामलला की मूर्ती का रंग काला ही क्यों? जानिए क्या है इसके पीछे का रहस्य

अयोध्या राम मंदिर में स्थापित रामलला की मूर्ती का रंग काला ही क्यों? जानिए क्या है इसके पीछे का रहस्य, हाल ही में 22 जनवरी को देश में माननीय प्रधानमंत्री द्वारा अयोध्या राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम सम्पन्न किया गया। जिसमे कई सारे लोग शामिल है जिसमे बड़े-बड़े दिग्गज नेता, स्टार्स, सेलेब्रिर्टी, बॉलीवुड एक्टर्स शामिल हुए। ऐसे में सनातन धर्म के 500 साल पुराने कठोर तपस्या का अंत हुआ और भगवान श्री राम अपने घर अयोध्या में आ गए।

ये भी पढ़े- पूर्व भारतीय क्रिकेटर और कोच रवि शास्त्री ने R. Ashwin के हेयरकट को लेकर किया कमेंट्स, कहा कि- “उनका दिमाग…”

अयोध्या राम मंदिर में स्थापित रामलला की मूर्ती का रंग काला ही क्यों? जानिए क्या है इसके पीछे का रहस्य

अब सबके मन में सिर्फ एक ही सवाल है कि मंदिर में स्थापित रामलला की मूर्ती काले रंग की ही क्यों है कोई और रंग की क्यों नहीं। यह सवाल सच में बेहद अचम्भित कर देने वाला है। अगर इसमें पीछे की वजह की बात करे तो इस मूर्ती का निर्माण काले रंग के पत्थर से किया गया है। इस काले पत्थर को कृष्ण शिला के नाम से भी जाना जाता है। यही वजह है कि रामलला की मूर्ति श्यामल है।

ये भी पढ़े- Gold-Silver Rate: शादियों के सीजन में पल-पल बदल रहे सोने-चाँदी के भाव, यहाँ देखे आज के ताजा रेट

सालो साल नहीं होगी खराब

सवाली वाल्मिकी जी ने अपनी रामायण में प्रभु श्री राम जी वर्णन श्यामल रूप में किया गया है। यह भी एक वजह हो सकती है कि इस मूर्ती का काले रंग के पत्थर से किया गया हो। इस श्यामल रूप से इस मूर्ती का महत्त्व और भी बढ़ गया है। ऐसा माना गया है कि भगवान श्री राम जी की मूर्ती को जिस पत्थर से बनाया गया है वह हजारो सालो तक ख़राब नहीं होती है। सके अलावा हिंदू अनुष्ठानों के दौरान मूर्ति पर इस्तेमाल करने वाली चीजें जैसे- दूध, पानी, हल्दी, कुमकुम आदि पदार्थों का इसपर कोई बुरा असर नहीं पड़ता।

Leave a Comment