बूझो तो जाने! एक पहेली सदा नवेली जो बूझे जिन्दा, जिन्दा में से मुर्दा निकले, मुर्दा में से जिन्दा, इसका जवाब देने में बड़े-बड़े धुरंधर भी फ़ैल…

बूझो तो जाने! एक पहेली सदा नवेली जो बूझे जिन्दा, जिन्दा में से मुर्दा निकले, मुर्दा में से जिन्दा, इसका जवाब देने में बड़े-बड़े धुरंधर भी फ़ैल…, पुराने ज़माने में जब लोगो के पास स्मार्टफोन नहीं हुआ करते थे तब बच्चो का मनोरंजन उसकी दादी-नानी हुआ करती थी। वह हर दिन बच्चो को अच्छी-अच्छी कहानी के साथ में कुछ मजेदार पहेलियाँ भी पुछा करती थी। जिससे बच्चो के मनोरंजन के साथ में उनका मानसिक विकास भी होता था। ऐसे में कुछ-कुछ बुजुर्ग लोग आज भी पहेलियाँ पूछ लेते है। ऐसे ही बच्चो के मानसिक विकास के लिए हम आपके लिए कुछ मजेदार पहेलियाँ लेकर आये है जो आपके दिमाग का पिटारा खोल देगी।

ये भी पढ़े- तस्वीर में ही छिपा है इस सवाल का जवाब? दौड़ाओ दिमाग के घोड़े और दो जवाब!

  • पहेली: ऐसी कौन सी चीज है जो समुद्र में पैदा होती है और आपके घर में रहती है?
  • उत्तर: नमक
  • पहेली: एक पहेली सदा नवेली जो बूझे जिन्दा, जिन्दा में से मुर्दा निकले, मुर्दा में से जिन्दा।
  • उत्तर – अंडा
  • पहेली: बड़ों–बड़ों को राह दिखाऊं, कान पकड़कर उन्हें पढ़ाऊं, साथ में उनकी नाक दबाऊं, फिर भी मैं अच्छा कहलाऊं।
  • जवाब: चश्मा

ये भी पढ़े- बूझो तो जाने! बिना चूल्हे के खीर बनी, ना मीठी ना नमकीन, थोड़ा-थोड़ा खा गए बड़े-बड़े शौकीन, दिमाग लगाओ जवाब बताओ!

  • पहेली: हरी थी मन भरी थी, लाख मोती जड़ी थी! राजाजी के बाग में दुशाला ओढ़े खड़ी थी|
  • उत्तर – भुट्टा (मक्का)
  • पहेली: हरे रंग की उसकी काया, लाल मकान में काला शैतान समाया, गर्मी में आता, सर्दी में गायब हो जाता
  • उत्तर – तरबूज

Leave a Comment