मनरेगा की दरों में हुई भारी बढ़ोतरी अब मजदूरों को मिलेगा तगड़ा पैसा देखे अपने क्षेत्र का हाल

मनरेगा की दरों में हुई भारी बढ़ोतरी अब मजदूरों को मिलेगा तगड़ा पैसा देखे अपने क्षेत्र का हाल केंद्र सरकार ने बुधवार को मनरेगा के तहत मजदूरों के लिए खुशखबरी सुनाई है. सरकार ने वित्त वर्ष 2024-25 के लिए मनरेगा मजदूरों की मजदूरी बढ़ाने का फैसला किया है. इसमें सबसे ज्यादा बढ़ोतरी गोवा में हुई है.

यह भी पढ़िए-नेताओ की दिलरुबा Mahindra Scorpio को खरीदे छटाक भर पैसो में मिलते है टॉप क्लास फीचर्स देखे पूरी डिटेल

गोवा में मौजूदा वेतन दर में अधिकतम 10.56% की बढ़ोत्तरी देखी गई है. वहीं, देश के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश में सबसे कम 3.04% की वृद्धि हुई है. इसके अलावा उत्तराखंड में भी 3.04% की ही बढ़ोतरी हुई है. सभी नई वेतन दरें 1 अप्रैल से लागू होंगी.

कौन से राज्य में सबसे ज्यादा मजदूरी?

सरकारी अधिसूचना के अनुसार, हरियाणा में सबसे ज्यादा मजदूरी तय की गई है, जो कि 374 रुपये प्रतिदिन है. वहीं, सबसे कम मजदूरी अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड में तय की गई है. यहां सबसे ज्यादा वेतन दर 234 रुपये प्रतिदिन है.

किस राज्य में कितनी बढ़ोत्तरी?

2023-24 में गोवा में सबसे ज्यादा 10.56% यानी 34 रुपये की बढ़ोतरी देखी गई थी. अब 2024-25 के लिए गोवा में मजदूरी बढ़कर 356 रुपये प्रतिदिन हो गई है. अभी यह 322 रुपये प्रतिदिन है. इसके अलावा कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में 10% की बढ़ोतरी हुई है.

अब इतनी मिलेगी मजदूरी

कर्नाटक में नई मनरेगा मजदूरी 349 रुपये प्रतिदिन हो गई है. जबकि अभी मौजूदा दर 316 रुपये है. आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के लिए वेतन दर 300 रुपये तय की गई है, जो अभी 272 रुपये है. मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में समान वेतन दर है. यह बढ़कर 243 रुपये प्रतिदिन हो जाएगी जबकि अभी यह 221 रुपये है. इसी तरह उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की वेतन दर भी समान है. अभी यहां 230 रुपये प्रतिदिन की मजदूरी है. अब यह बढ़कर 237 रुपये हो जाएगी.

यह भी पढ़िए-HD फोटू क्वालिटी से तांडव मचाएंगा Realme का धांसू स्मार्टफोन मिलेंगे कंटाप फीचर्स और दमदार बैटरी

कम बढ़ोतरी वाले राज्य

हरियाणा, मणिपुर, असम, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, केरल, राजस्थान और लक्षद्वीप समूह में वेतन दरों में 5% से कम की वृद्धि हुई है. वित्त वर्ष 2024-25 के लिए औसत वेतन दर 267.32 रुपये से बढ़कर 285.47 रुपये प्रतिदिन हो गई है. केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय की वेबसाइट पर दी गई रिपोर्ट के आधार पर 1 जनवरी के आंकड़े के मुताबिक मनरेगा के करीब 14.28 करोड़ सक्रिय कामगार हैं.

Leave a Comment